चलती औसत ट्रेडिंग रणनीति

अमेरिकी सत्र

अमेरिकी सत्र

अमेरिकी इतिहास की सबसे खूनी गोलीबारी, 59 की मौत 500 से अधिक घायल

अमेरिका के लास वेगास में एक संगीत समारोह के दौरान एक व्यक्ति द्वारा की गई गोलीबारी में कम से कम 59 लोगों की मौत हो गई और 500 से अधिक लोग घायल हो गए. हाल के दिनों में अमेरिकी इतिहास में यह अब तक गोलीबारी की सबसे घातक घटना है.

हमले में करीब 500 से अधिक घायल

नंदलाल शर्मा

  • लास वेगास, अमेरिका,
  • 02 अक्टूबर 2017,
  • (अपडेटेड 03 अक्टूबर 2017, 7:32 AM IST)

अमेरिका के लास वेगास में एक संगीत समारोह के दौरान एक व्यक्ति द्वारा की गई गोलीबारी में कम से कम 59 लोगों की मौत अमेरिकी सत्र हो गई और 500 से अधिक लोग घायल हो गए. हाल के दिनों में अमेरिकी इतिहास में यह अब तक गोलीबारी की सबसे घातक घटना है.

पुलिस ने कहा कि बंदूकधारी की पहचान 64 वर्षीय स्टीफन पैडॉक के तौर पर हुई है. वह स्थानीय निवासी है. स्वैट टीम ने उसे मार गिराया. हमलावर ने एक संगीत समारोह स्थल के बगल में मैंडले बे की 32वीं मंजिल से गोलीबारी की थी. वहीं आतंकी संगठन आईएसआईएस ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. ISIS का दावा है कि स्टीफन पैडॉक ने हाल ही में इस्लाम कुबूल किया था. इसके अलावा पता चला है कि स्टीफन पैडॉक जुआ खेलने का शौकीन था, कई बार ट्रैफिक नियम तोड़ने के आरोप में पकड़ा भी गया था. यही नहीं, हमलावर स्टीफन पैडॉक अपनी गर्लफ्रेंड के साथ रहता था.

स्मार्ट फोन से ली गई फुटेज में दिख रहा है कि अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सोमवार सुबह पांच बजे चलायी गयीं गोलियों की आवाज आने के बाद लोग चिल्लाने लगे और दहशत में भागने लगे.

लास वेगास मेट्रो पुलिस के शेरिफ जोसफ लोमबार्डो ने सोमवार देर रात मरने वालों की संख्या 59 होने की पुष्टि की. इससे पहले उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में 50 से ज्यादा व्यक्तियों की मौत और 500 व्यक्तियों के जख्मी होने की बात कही थी. उन्होंने कहा कि जाहिर तौर पर यह दुखद घटना है और इस तरह की है जिसका हमने कभी अनुभव नहीं किया था.

पुलिस मामले की जांच कर रही है और लोगों से इलाके से दूर रहने और अफवाहों से बचने को कहा है. पुलिस ने साफ कहा है कि एयरपोर्ट समेत कई जगहों पर और हमलों की अफवाहें फैलाई जा रही हैं इसपर लोग ध्यान न दें.

म्यूजिक फेस्टिवल के दौरान इस हमले को अंजाम दिया गया है.

कंसर्ट में मौजूद लोगों ने बताया कि फायरिंग के शॉट्स मांडले बे होटल एंड कसीनो के ऊपरी फ्लोर से कंट्री म्यूजिकल के चारों तरफ आ रहे थे. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यह ऑटोमैटिक बंदूक की आवाज थी.

प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि कंसर्ट वेन्यू पर गोलियों की बौछार हो रही थी. लोग इधर उधर भाग रहे थे. उनमें से कुछ लोग ट्रोपिकाना होटल-कसीनो के बेसमेंट में छिप गए. घटनास्थल पर पहुंची के कुछ ऑफिसर ने अपनी गाड़ियों के पीछे से निशाना साधा, तो कुछ हथियारों के साथ मांडले बे होटल और कसीनो की तरफ बढ़े. फायरिंग की सूचना के बाद लास वेगास स्ट्रिप और इंटरस्टेट 15 के ज्यादातर हिस्से को बंद करा दिया गया.

स्थानीय प्रशासन ने मैकैरेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट को आने वाली फ्लाइट्स को डायवर्ट कर दिया है. प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि घटना के वक्त जेसोन एल्डिन परफॉर्म कर रहे थे.

EAM जयशंकर 10 दिवसीय अमेरिका यात्रा पर होंगे रवाना; UNGA सत्र में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का करेंगे नेतृत्व

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर 18 से 28 सितंबर तक संयुक्त राज्य अमेरिका की 10 दिवसीय यात्रा पर जाने के लिए तैयार हैं।

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर 18 से 28 सितंबर तक संयुक्त राज्य अमेरिका की 10 दिवसीय यात्रा पर जाने के लिए तैयार हैं। अपनी यात्रा के दौरान, वह संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के 77वें सत्र में उच्च स्तरीय सप्ताह के लिए एक भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व भी करेंगे। उनका 24 सितंबर को सत्र को संबोधित करने का कार्यक्रम है। जयशंकर 18-28 सितंबर तक अमेरिका में रहेंगे।

विदेश मंत्रालय (MEA) ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, 77वें UNGA का विषय "ए वाटरशेड मोमेंट: ट्रांसफॉर्मेटिव सॉल्यूशंस टू इंटरलॉकिंग चैलेंजेस" है। बयान के अनुसार, जयशंकर सुधारित बहुपक्षवाद के लिए भारत की मजबूत प्रतिबद्धता को ध्यान में रखते हुए, 4 (जी 4) देशों के समूह की एक मंत्रिस्तरीय बैठक की अध्यक्षता भी करेंगे। G4 देशों में भारत, जापान, जर्मनी और ब्राजील शामिल हैं।

इसके अलावा, विदेश मंत्री (ईएएम) "संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के बहुपक्षवाद को फिर से मजबूत करने और व्यापक सुधार प्राप्त करने" पर L.69 समूह की उच्च-स्तरीय बैठक में भाग लेने वाले हैं।

L.69 समूह, जो संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के परिवर्तनों पर केंद्रित है, इसमें एशिया, अफ्रीका, लैटिन अमेरिका, कैरिबियन और छोटे द्वीप विकासशील राज्यों के विकासशील देश शामिल हैं।

24 सितंबर को, विदेश मंत्री 'आजादी का अमृत महोत्सव' को सम्मानित करने और बढ़ावा देने के लिए "इंडिया@75: शोकेसिंग इंडिया यूएन पार्टनरशिप इन एक्शन" नामक एक विशेष कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। मंत्रालय के अनुसार, यह आयोजन भारत की विकास यात्रा और दक्षिण-दक्षिण सहयोग में इसके द्वारा किए गए योगदान को उजागर करेगा।

कई त्रिपक्षीय बैठकों में हिस्सा लेंगे जयशंकर

इस बीच, जयशंकर क्वाड, आईबीएसए, ब्रिक्स, भारत-प्रेसीडेंसी प्रो टेम्पोर अमेरिकी सत्र सीईएलएसी की बहुपक्षीय बैठकों के अलावा भारत-फ्रांस-ऑस्ट्रेलिया, भारत-फ्रांस-यूएई और भारत-इंडोनेशिया-ऑस्ट्रेलिया, भारत-कैरिकॉम सहित त्रिपक्षीय प्रारूपों में भी भाग लेंगे। इसके अतिरिक्त, उनके G20 और UNSC सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों के साथ द्विपक्षीय बैठकें करने की भी उम्मीद है।

जयशंकर 25-28 सितंबर तक वाशिंगटन जाएंगे

77वें UNGA से संबंधित प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के बाद, जयशंकर अमेरिकी वार्ताकारों के साथ द्विपक्षीय चर्चा के लिए 25-28 सितंबर तक वाशिंगटन की यात्रा करेंगे।

विदेश मंत्रालय ने कहा, "उनके कार्यक्रम में अन्य बातों के साथ-साथ उनके समकक्ष विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन, अमेरिकी प्रशासन के वरिष्ठ सदस्य, अमेरिकी व्यापार जगत के नेता, विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर केंद्रित एक राउंड टेबल मीटिंग और भारतीय प्रवासियों के साथ बातचीत शामिल है।"

Stock Market : बाजार में दूसरे दिन भी बढ़त के संकेत, कहां पैसे लगाकर मुनाफा कमा सकते हैं निवेशक

सेंसेक्‍स पिछले सत्र में 274 अंक चढ़कर बंद हुआ था.

भारतीय शेयर बाजार में आज लगातार दूसरे कारोबारी सत्र में बढ़त की उम्‍मीद लग रही है. एक्‍सपर्ट का कहना है कि ग्‍लोबल मार् . अधिक पढ़ें

  • News18 हिंदी
  • Last Updated : November 23, 2022, 07:45 IST

हाइलाइट्स

सेंसेक्‍स पिछले कारोबारी सत्र में 274 अंक उछाल के साथ 61,419 पर बंद हुआ.
निफ्टी 84 अंक चढ़कर 18,244 पर पहुंच गया था.
विदेशी संस्‍थागत निवेशकों ने बाजार से 697.83 करोड़ के शेयर बेचकर पैसे निकाल लिए.

नई दिल्‍ली. भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) में बुधवार को लगातार दूसरे कारोबारी सत्र में बढ़त के संकेत मिल रहे हैं. ग्‍लोबल मार्केट में आई तेजी से आज निवेशकों का सेंटिमेंट पॉजिटिव नजर आ रहा है. एक्‍सपर्ट का कहना है कि निवेशक आज लगातार दूसरे सत्र में अमेरिकी सत्र खरीदारी पर जोर देंगे तो बाजार को बढ़त बनाने में कामयाबी मिलेगी. इससे पहले लगातार तीन सत्रों में गिरावट दिखी थी.

सेंसेक्‍स पिछले कारोबारी सत्र में 274 अंक उछाल के साथ 61,419 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 84 अंक चढ़कर 18,244 पर पहुंच गया था. आज ज्‍यादातर ग्‍लोबल मार्केट में तेजी दिख रही जिसका असर घरेलू बाजार पर भी दिखेगा और निवेशक खरीदारी की ओर जा सकते हैं. एक्‍सपर्ट का कहना है कि पिछले कुछ समय से बाजार एक दायरे में ही कारोबार कर रहा है, लेकिन इस बार सेंटिमेंट लंबे समय तक पॉजिटिव रहने का अनुमान है.

अमेरिका और यूरोपीय बाजारों में तेजी
अमेरिकी शेयर बाजार में निवेशकों का भरोसा वापस लौट रहा है और वे जमकर पैसे लगा रहे. फेड रिजर्व के ब्‍याज दरें के संकेत और महंगाई व बेरोजगारी के खराब आंकड़ों के बावजूद अम‍ेरिकी निवेशकों का सेंटिमेंट पॉजिटिव दिख रहा है. पिछले कारोबारी सत्र में अमेरिका के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल S&P 500 पर 1.36 फीसदी, DOW JONES पर 1.18 फीसदी और NASDAQ पर 1.36 फीसदी की तेजी दिख अमेरिकी सत्र रही है.

अमेरिका की तर्ज पर यूरोप के लगभग सभी शेयर बाजारों में पिछले कारोबारी सत्र के दौरान बढ़त दिखी है. यूरोप के प्रमुख बाजारों में शामिल जर्मनी का स्‍टॉक एक्‍सचेंज पिछले सत्र में 0.29 फीसदी की तेजी पर बंद हुआ, जबकि फ्रांस का शेयर बाजार 0.35 फीसदी उछाल पर बंद हुआ था. लंदन स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर भी पिछले सत्र में 1.03 फीसदी की तेजी दिख रही है.

एशियाई बाजार भी हरे निशान पर
एशिया के ज्‍यादातर शेयर बाजार आज सुबह बढ़त पर खुले और हरे निशान पर कारोबार कर रहे हैं. सिंगापुर स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर आज सुबह 0.36 फीसदी की तेजी दिख रही तो जापान का निक्‍केई 0.61 फीसदी उछाल के साथ कारोबार कर रहा है. हांगकांग के शेयर बाजार में 0.07 फीसदी तो ताइवान के बाजार में 0.41 फीसदी की बढ़त दिख रही है. दक्षिण कोरिया का कॉस्‍पी 0.37 फीसदी उछाल पर कारोबार कर रहा तो चीन का शंघाई कंपोजिट 0.21 फीसदी की बढ़त बनाए हुए है.

आज इन शेयरों में दिख रहा दम
एक्‍सपर्ट के मुताबिक, आज के कारोबार में कुछ ऐसे शेयर होंगे जिन पर दांव लगाकर निवेशक तगड़ा मुनाफा कमा सकते हैं. इन शेयरों को हाई डिलीवरी पर्सेंटेज वाले स्‍टॉक कहते हैं और आज के कारोबार में Torrent Pharma, Wipro, ICICI Bank, PFC और HDFC जैसी कंपनियों के शेयर इस श्रेणी में आएंगे.

विदेशी निवेशकों की बिकवाली जारी
भारतीय पूंजी बाजार से विदेशी निवेशकों की निकासी का सिलसिला एक बार फिर बढ़ता ही जा रहा है. पिछले कारोबारी सत्र में भी विदेशी संस्‍थागत निवेशकों ने बाजार से 697.83 करोड़ के शेयर बेचकर पैसे निकाल लिए. हालांकि, इसी दौरान घरेलू संस्‍थागत निवेशकों ने 636.39 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

रुपये में तेज़ उछाल, 80.75 तक पहुंचा, अमेरिकी मुद्रास्फीति के आंकड़ों के बाद डॉलर में गिरावट

शुक्रवार सुबह के सत्र में भारतीय रुपये में 80.75 प्रति डॉलर की दर से कारोबार हो रहा था. शुक्रवार को रुपया 80.6888 पर खुला, जबकि पिछले सत्र में यह 81.8112 पर बंद हुआ था.

रुपये में तेज़ उछाल, 80.75 तक पहुंचा, अमेरिकी मुद्रास्फीति के आंकड़ों के बाद डॉलर में गिरावट

शुक्रवार सुबह के सत्र में भारतीय रुपये में 80.75 प्रति डॉलर की दर से कारोबार हो रहा था.

भारतीय रुपये में शुक्रवार को तेज़ उछाल देखा गया, और पिछले सत्रों में हुआ नुकसान पलटता नज़र आया, क्योंकि अमेरिकी मुद्रास्फीति के उम्मीद से कम आंकड़ों की वजह से अमेरिकी डॉलर में गिरावट अमेरिकी सत्र अमेरिकी सत्र आई.

यह भी पढ़ें

ब्लूमबर्ग के मुताबिक, शुक्रवार सुबह के सत्र में भारतीय रुपये में 80.75 प्रति डॉलर की दर से कारोबार हो रहा था. शुक्रवार को रुपया 80.6888 पर खुला, जबकि पिछले सत्र में अमेरिकी सत्र यह 81.8112 पर बंद हुआ था.

शुरुआती कारोबार में रुपया 80.6788 से 80.7525 की रेंज में चलता रहा, और 81 रुपये प्रति डॉलर से नीचे बना रहा.

फिनरेक्स ट्रेज़री एडवाइज़र्स में हेड ऑफ ट्रेज़री अनिल कुमार भंसाली का कहना है, "अमेरिकी डॉलर ने कल 81.91 तक बढ़ने के बाद रुपये के लिए सभी तरह का सहारा छोड़ दिया है. अब निकटतम समर्थन अब 80.50 पर और मनोवैज्ञानिक समर्थन 80 पर है. आज के दिन की रेंज 80.25 से 81.00 रहने की उम्मीद है. "

रेटिंग: 4.97
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 186
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *